Header Ads Widget

ग्वालियर में 17 साल के लड़के ने 20000 रईसों को 1.5 करोड़ का चूना लगा डाला


ग्वालियर। ग्वालियर शहर में रहने वाले हैं मात्र 17 साल के एक लड़के ने दुनिया भर के 20000 ऐसे लोगों को 1.5 करोड़ रुपए का चूना लगा डाला जिनके बैंक खातों में बड़ी रकम होती है और वह अपने क्रेडिट कार्ड के माध्यम से लग्जरी वस्तुओं की ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं। मात्र 17 साल के इस लड़के का शिकार हुए लोगों में अमेरिका, स्पेन, जापान, चीन और ऑस्ट्रेलिया में रहने कारोबारी और प्रोफेशनल शामिल हैं।


दुनिया भर के करोड़पतियों के क्रेडिट कार्ड का डाटा डार्क नेट पर 


दुनिया भर के प्रोफेशनल और कारोबारियों को चूना लगाने के लिए ग्वालियर के इस लड़के को अपने घर से बाहर तक नहीं निकलना पड़ा। उसने इंटरनेट पर वर्चुअल करेंसी बिटकॉइन खरीदी और फिर डार्कनेट (इंटरनेट पर मौजूद चोर बाजार जिसमें लोगों की गोपनीय जानकारी बेची जाती है) पर जाकर दुनिया भर के 20000 क्रेडिट कार्ड का डाटा खरीद लिया। जिस उम्र (18 साल से कम) को भारत के कानून में नासमझ माना जाता है, उस उम्र में लड़के ने इतने शातिर ढंग से अपराध को अंजाम दिया कि उसको पकड़ा जाना लगभग असंभव था। उसने दुनिया के अलग-अलग देशों के ऐसे लोगों का चुनाव किया जो अपने क्रेडिट कार्ड से महंगी वस्तुओं की खरीदारी करते थे। पिछले 1 साल में उसने 1.5 करोड रुपए के लग्जरी सामान की खरीदारी दूसरे लोगों के क्रेडिट कार्ड के जरिए कर डाली। इसमें से कुछ सामान उसने 40% तक डिस्काउंट देकर बाजार में एवं वह अपने परिचितों को भी बेच दिया।


इतना शातिर अपराधी कैसे पकड़ा गया 


इस मामले में शिकायतकर्ता मौजूद नहीं है। जब किसी ने शिकायत ही नहीं की तो अपराधी का पकड़ा जाना असंभव होता है लेकिन कई बार छोटे शहरों में सोशल पुलिसिंग काफी अच्छा काम करती है। इस मामले में भी ऐसा ही हुआ। पुलिस को इंफॉर्मेशन दी गई कि एक लड़का काफी महंगे सामान की खरीदारी कर रहा है जबकि उसके परिवार की हैसियत इतनी अच्छी नहीं है। पुलिस को बताया गया कि उसने रे-बैन, टॉमी हिलफिगर, एप्पल, एमआई, विदेशी एयर प्यूरीफायर, सबसे महंगा एयर कंडीशनर और लग्जरी फर्नीचर खरीदा है। पूरी खरीदारी ऑनलाइन की गई है।

ग्वालियर पुलिस ने अपनी स्टाइल में छानबीन शुरू की और संदिग्ध लड़के को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो सारी कहानी सामने आ गई। हालांकि ग्वालियर पुलिस के सामने अभी भी सबसे बड़ा चैलेंज इस क्राइम को कोर्ट में साबित करना है। ग्वालियर पुलिस की इन्वेस्टिगेशन टीम महाराजपुरा टीआई मिर्जा आसिफ बेग, एएसआई राघवेंद्र सोलंकी और कांस्टेबल अर्चना कंसाना, कृष्णा पाल यादव, संजय गुर्जर, धुर्वा गुर्जर और पुष्पेन्द्र सिंह यादव इस मामले में एविडेंस कलेक्ट कर रही है।