छिपाकर बेच रहे थे 45 लाख की 344 पेटी शराब


इंदौर. कर्फ्यू के दौरान अवैध रूप से बेची जा रही 45 लाख रुपए की 344 पेटी शराब क्राइम ब्रांच की टीम ने पकड़ी है। कार्रवाई में 11 लोगों को आरोपी बनाया है। इसमें शराब ठेकेदार सहित उसके मैनेजर व सप्लायर को आरोपी बनाया है। इनसे एक स्कॉर्पियो और स्विफ्ट कार भी मिली है। क्राइम ब्रांच एएसपी राजेश दंडोतिया ने बताया कि परदेशीपुरा इलाके में शराब ठेकेदार मुकेश शिवहरे द्वारा शराब दुकान के अहाते में अवैध रूप से रखी गई शराब की 226 पेटी जब्त की हैं। मामले में आरोपी कमल पिता शिवनारायण ठाकुर निवासी स्कीम 51 बांगड़दा रोड, रोहित पिता उमेशसिंह चौहान निवासी वेंकटेश विहार, रामराज पिता उदयराज निवासी नरसिंह की चाल, दीपक पिता सहदेव खंडारे निवासी कबीटखेड़ी, दीपू पिता गुलाबसिंह ठाकुर निवासी विजय नगर, शुभम पिता दरियावसिंह सिसौदिया निवासी वेंकटेश विहार को गिरफ्तार किया है।


इनके कब्जे से अंग्रेजी व देशी शराब की अहाते में छिपाकर रखी 226 पेटियां जब्त की हैं। परदेशीपुरा स्थित शराब दुकान का मैनेजर राकेश तिवारी शराब ठेकेदार शिवहरे के कहने पर यह शराब अहाते में से पीछे के रास्ते से बेच रहा था। दोनों को भी क्राइम ब्रांच ने आरोपी बनाया है। 


एरोड्रम थाना क्षेत्र के संगम नगर में शराब ठेकेदार संतोष रघुवंशी गाड़ियों में तीन गुना दाम में शराब बेच रहा था। पुलिस ने यहां ग्राहक बनकर दबिश दी तो कार (एमपी 20 सीएफ 4049) में 99 पेटी अंग्रेजी शराब और बिना नंबर की अन्य कार में 19 पेटी अंग्रेजी शराब मिली, जिसकी कीमत करीब चार लाख रुपए है। आरोपी शिवगोपाल असारे निवासी न्यू दुर्गा नगर, हेमंत सिमले निवासी नंदन नगर, शंभुनाथ यादव शुभम पैलेस, प्रकाश लोधी, सुरेंद्र उर्फ कल्लन रघुवंशी को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके खिलाफ आबकारी एक्ट की धारा 32(2) के साथ धारा 188 का भी केस दर्ज किया है।