जगजीत सिंह भाटिया प्रधान संपादक जवाबदेही समाचार पत्र इंदौर के चिंतकों को टाइम लाइन से मतलब है, काम कैसा हो रहा है, कौन कर रहा है, निर्माण होने के बाद क्या-क्या खामियां आएगी, उसके बारे में कोई विचार नहीं किया जाकर जनता के करोड़ों रुपयों को फूंक दिया जाता है। जब निर्माण हो जाता है तो वाहवाही के तम…
Image
साहब की गाड़ी फंसी तब समझ में आया इंदौर का ट्रैफिक कितना कष्टदायक है!
जगजीत सिंह भाटिया प्रधान संपादक जवाबदेही समाचार पत्र इंदौर के नए डीआईजी शहर के ट्रैफिक का हाल जानने सड़क पर उतरे थे, जब उनके वाहन के पहिये जाम में फंस गए तब उन्हें पता चला कि इंदौर का ट्रैफिक जनता के लिए कितना कष्टादायक है। ट्रैफिक विभाग के जिम्मेदारों को ये बात पता होनी चाहिए कि यातायात सप्ताह …
Image